Blogger द्वारा संचालित.
ग्राम चौपाल में आपका स्वागत है * * * * नशा हे ख़राब झन पीहू शराब * * * * जल है तो कल है * * * * स्वच्छता, समानता, सदभाव, स्वालंबन एवं समृद्धि की ओर बढ़ता समाज * * * * ग्राम चौपाल में आपका स्वागत है

जलवायु परिवर्तन की रोकथाम में स्कूली बच्चो की भूमिका

>> 27 अगस्त, 2010




जलवायु परिवर्तन की रोकथाम में स्कूली बच्चो की भूमिका पर जागरूकता कार्यक्रम

आमंत्रण

बहनो एवं भाईयों ,
                               नमस्कार ,


                  जलवायु परिवर्तन एक गंभीर समस्या है , इस समस्या से हम सब वाकिफ है . पूर्व में भी ग्राम-चौपाल में हम  बहुत कुछ लिख चुके है ,  आगे भी लिखते रहेंगे .हमने इस विषय में कुछ काम भी किये है जिसके ठोस परिणाम सामने आये है .यह एक व्यक्ति प्रान्त या देश का विषय नहीं है बल्कि   पूरे विश्व का विषय  है .बात बहुत  लम्बी हो  जाएगी ,आज   वक्त कम   है , इस पर बाद में चर्चा करेंगे ,इस बीच यदि आपके सुझाव आ गए तो उत्तम होगा .

                      जलवायु परिवर्तन के गंभीर परिणामो के मद्देनजर हम सब को तो जागरूक रहना ही  है साथ ही साथ नई पीढ़ी को भी जागरूक करना है । इसी दृष्टि से इंस्टीट्यूट आफ एप्लाएड सिस्टम आफ रूलर डेवलपमेंट द्वारा भारत सरकार एवं छत्तीसगढ़ सरकार  के सहयोग से कक्षा 6वी से लेकर कक्षा 10वीं के छात्र - छात्राओं को प्रशिक्षण दिया जाना है ।इस   कार्यक्रम की शुरुवात रायपुर जिले से हो  रही है,दिनांक   २८ अगस्त २०१० को सुबह ११ बजे रायपुर से १५ की.मी.दूर माना बस्ती में   इस      अभियान     का  शुभारम्भ होगा.मानाबस्ती  में    १२ वर्ष   से    १७ वर्ष आयु वर्ग के लगभग १००० स्कूली बच्चे भाग लेंगे .   महाराष्ट्र सरकार  की सेवानिवृत आतिरिक्त मुख्यसचिव  सुश्री  लीना  मेहेंदले मुख्य  वक्ता  के  रूप  में  उपस्थित  रहेंगी .छत्तीसगढ़ शासन केस्कूली शिक्षा  मंत्री श्री बृजमोहन  अग्रवाल इस कार्यक्रम का शुभारम्भ करेंगे . इंस्टीट्यूटआफ  एप्लाएड  सिस्टम आफ  रूलर  डेवलपमेंट  के  अध्यक्ष श्री डा. के.डी. गुप्ता भी उपस्थित रहेंगे.  अगले  एकमाह तक यह  अभियान   चलेगा . प्रथम  चरण  में  रायपुरशहर ,धरसींवा,  तिल्दा,सिमगा,आरंग,अभनपुर,फिंगेश्वर  एवं  देवभोग  विकास  खंड  के  स्कूली  बच्चोको  प्रशिक्षित  किया  जायेगा।इस हेतु  50 कलस्टर  बनाये गये है जिसमे 250 स्कूलो के बच्चे भाग लेगें .
                                     इस  पुनीत कार्य  में  जनभागीदारी आवश्यक है.सहयोग की अपेक्षा के साथ आपको इस कार्यक्रम में सादर आमंत्रित करता हूँ .   

2 टिप्पणियाँ:

ललित शर्मा-للت شرما 28 अगस्त 2010 को 12:35 am  

भावी पीढी को जागरुक करना आवश्यक है।
इसके माध्यम से पालक भी जागरुक हो सकेंगे।

आमंत्रण के लिए धन्यवाद

एक टिप्पणी भेजें

About This Blog

  © Blogger template Webnolia by Ourblogtemplates.com 2009

Back to TOP