Blogger द्वारा संचालित.
ग्राम चौपाल में आपका स्वागत है * * * * नशा हे ख़राब झन पीहू शराब * * * * जल है तो कल है * * * * स्वच्छता, समानता, सदभाव, स्वालंबन एवं समृद्धि की ओर बढ़ता समाज * * * * ग्राम चौपाल में आपका स्वागत है

भविष्यवक्ता ऑक्टोपस यानी पॉल बाबा का निधन

>> 26 अक्तूबर, 2010


ऑक्टोपस यानी " पॉल बाबा " का  कल  रात अचानक निधन हो गया . फुटबॉल  वर्ल्ड कप के विभिन्न मैचों की सही भविष्यवाणी कर सुर्खियों में आने वाले जर्मनी के ऑक्टोपस पॉल अब नहीं रहे . अपनी सही भविष्यवाणियों के चलते शोहरत के मामले में उसने वर्ल्ड कप को भी पीछे छोड़ दिया था ." पॉल का जलवा फ़ुटबॉल विश्व कप के दौरान किसी स्टार से कम नहीं था.

सफल भविष्यवक्ता
ऑक्टोपस यानी पॉल बाबा

पॉल ने वर्ल्ड कप मैचों की सही भविष्यवाणी कर दुनिया को हैरान कर दिया था .भविष्यवाणी के लिए पॉल के बॉक्स में उन दोनों देशों के झंडे रखे जाते थे जिनके बीच मैच होना था.  पॉल उनमें से एक को चुन कर विजेता की भविष्यवाणी करता था.

दक्षिण अफ्रीका में हुए फुटबॉल वर्ल्ड कप में जर्मनी के सभी आठ मैचों के बारे में ऑक्टोपस की भविष्यवाणियां सही निकलीं  थी  .  फिर स्पेन और हॉलैंड के बीच फ़ाइनल मैच से पहले   पॉल बाबा ने अपने एक्वेरियम में स्पेन का झंडा चुनकर ये भविष्यवाणी की थी कि मैच स्पेन जीतेगा .कड़े मुकाबले में स्पेन की 1-0 से जीत हुई , जिससे उसकी विश्वसनीयता और बढ़ गई थी .
.
जर्मनी के एक्वेरियम "ओबरहॉसन सी लाइफ सेंटर "  के  अधिकारी व कर्मचारी इस घटना से बेहद दुखी है . पॉल के ' पार्थिव अवशेष ' को फिलहाल कोल्डस्टोरेज में रखा गया है .  प्रबंधकों को अब यह तय करना है कि  कितने भव्य तरीके से पॉल का अंतिम संस्कार किया जाए.  लेकिन पॉल के चाहने वालों को ज्यादा निराश होने की जरूरत नहीं है क्योंकि यह एक्वेरियम पॉल बाबा के उत्तराधिकारी के रूप में एक दूसरे ऑक्टोपस को तैयार कर रहा है .नया ऑक्टोपस सफल भविष्यवक्ता बन सकेगा अथवा नहीं यह जानने के लिए हमें अगले फुटबॉल वर्ल्ड कप की प्रतीक्षा करनी होगी .
.
मैंने 12   जलाई 2010 को एक पोस्ट लिखी थी इसे जरूर पढ़े -- विश्व कप के भविष्यवक्ता पॉल बाबा स्वंय का भविष्य तो बतायें......  00327




5 टिप्पणियाँ:

राज भाटिय़ा 27 अक्तूबर 2010 को 1:01 am  

बहुत खुब जी, धन्यवाद

प्रवीण पाण्डेय 27 अक्तूबर 2010 को 8:37 am  

कितनों को जिताया, जीवन सार्थक कर विदा हुये इस लोक से।

harendra singh rawat 29 अक्तूबर 2010 को 5:51 pm  

shaayad octopus paal baba kee pratham aur aakhari bhavishy vaanee thee aur vida ho gaye ! God unakee aatmaa ko shaantee de

एक टिप्पणी भेजें

About This Blog

  © Blogger template Webnolia by Ourblogtemplates.com 2009

Back to TOP