Blogger द्वारा संचालित.
ग्राम चौपाल में आपका स्वागत है * * * * नशा हे ख़राब झन पीहू शराब * * * * जल है तो कल है * * * * स्वच्छता, समानता, सदभाव, स्वालंबन एवं समृद्धि की ओर बढ़ता समाज * * * * ग्राम चौपाल में आपका स्वागत है

सत्ता का सत्ता

>> 12 दिसंबर, 2010

 छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने  12 दिसम्बर को अपनी सरकार की दूसरी पारी के दो वर्ष पूर्ण होने के साथ ही अपनी सत्ता के सात  वर्ष पूर्ण कर लिए .उन्होंने  07 दिसंबर 2003 को पहली बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी , तब से लगातार  वे इस पद पर बने हुए है .  अपनी सत्ता के सातवें  वर्ष में प्रवेश के अवसर पर मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने राज्य की जनता का अभिनंदन करते हुए प्रदेशवासियों को बधाई और शुभकामनाएं दी है. डॉ. सिंह ने जनता को  सहयोग के लिए धन्यवाद भी दिया है.मुख्यमंत्री ने आज यहां जारी अपने एक संदेश में कहा है कि जनता के सहयोग और समर्थन से प्रदेश सरकार ने गांव, गरीब और किसानों की बेहतरी के साथ-साथ समाज के सभी वर्गो के विकास और उत्थान के लिए कई योजनाएं शुरू की हैं, जिनके माध्यम से प्रदेशवासियों के जीवन में सकारात्मक परिवर्तन की लहर साफ देखी जा सकती है. डॉ. रमन सिंह ने कहा कि पहली पारी के पांच वर्ष और दूसरी पारी के विगत दो वर्षो को मिलाकर पिछले सात वर्ष में आम जनता का विश्वास अर्जित करना और लोगों के भरोसे को कायम रखना उनकी सरकार की सबसे बड़ी उपलब्धि है. डॉ. रमन सिंह ने इस अवसर पर प्रदेश सरकार के सभी मंत्रियों, राज्य के जनप्रतिनिधियों, मीडिया प्रतिनिधियों, शासकीय अधिकारियों और कर्मचारियों और आम नागरिकों सहित समाज के सभी वर्गों का आभार व्यक्त करते हुए लोगों को विश्वास दिलाया है कि सबके सहयोग से राज्य की यह विकास यात्रा आने वाले वर्षो में भी लगातार जारी रहेगी और सब मिलकर छत्तीसगढ़ को देश का एक आदर्श और अग्रणी राज्य बनाने में अपने-अपने कार्य क्षेत्र में पूरी सक्रियता से अपना योगदान देंगे. प्रदेश के विकास और जनता की बेहतरी के लिए राज्य सरकार अपने संकल्पों को और भी कड़ी मेहनत के साथ पूर्ण करेगी.
     


बढ़ते कदम .......
 


12 टिप्पणियाँ:

Rahul Singh 12 दिसंबर 2010 को 8:24 am  

''विकास यात्रा आने वाले वर्षो में भी लगातार जारी रहेगी'', निसंदेह.

बेनामी,  12 दिसंबर 2010 को 9:44 am  

निस्संदेह रमण सिंह जी ने गाँव गरीब और किसान के लिए बहुत कुछ किया है . परन्तु शासन की योजनाओं ने आम आदमी के विकास के साथ एक सौगात दी है जिसे कामचोरी kahte hai कामचोरी के साथ साथ एक और बीमारी जिसे kam परिश्रम पर अधिक से अधिक फिर और अधिक पाने की चाह उन्हें गुमराह कर रही है. -अनिमेष jain

ashokbajajcg.com 12 दिसंबर 2010 को 10:07 am  

@ Rahul Singh jee ,
पूरी उम्मीद है .धन्यवाद !

ashokbajajcg.com 12 दिसंबर 2010 को 10:11 am  

@ अनिमेष जैन जी ,
हिंदी लिखने के लिए आप मेरे ब्लॉग के " लिखिए अपनी भाषा में " कालम का इस्तेमाल कर सकते है .

प्रवीण पाण्डेय 12 दिसंबर 2010 को 11:09 am  

गौर से देखा जाये तो सब है पत्ते पे पत्ता।

राज भाटिय़ा 12 दिसंबर 2010 को 1:38 pm  

पता नही इस राज नीति मे कोन केसा हे , आप ने लेख बहुत सुंदर लिखा धन्यवाद

ashokbajajcg.com 12 दिसंबर 2010 को 8:25 pm  

@ 'उदय' जी ,
धन्यवाद !

ashokbajajcg.com 12 दिसंबर 2010 को 8:27 pm  

@ प्रवीण पाण्डेय जी ,
धन्यवाद !

ashokbajajcg.com 12 दिसंबर 2010 को 8:29 pm  

@राज भाटिय़ा जी ,
धन्यवाद !

BASTERIYA 12 दिसंबर 2010 को 10:40 pm  

सत्ता के सात बरस में बस्तर में नक्सलवाद की समस्या लगातार बढ़ते ही जा रही है. नक्सलवाद की समस्या से निज़ात पाने कोई भी कारगर उपाय नहीं किये जा रहें है. ये सात बरस की सबसे बड़ी असफलता है. जिसका मुख्य कारण भ्रष्टाचार है. रमन सरकार भ्रष्टाचार को रोकने में नाकामयाब रही है.

drsatyajitsahu.blogspot.in 14 दिसंबर 2010 को 6:28 pm  

personal massage----------------nigam adayaksh banane par badhai...................hope u be even more creative ...............

एक टिप्पणी भेजें

About This Blog

  © Blogger template Webnolia by Ourblogtemplates.com 2009

Back to TOP