Blogger द्वारा संचालित.
ग्राम चौपाल में आपका स्वागत है * * * * नशा हे ख़राब झन पीहू शराब * * * * जल है तो कल है * * * * स्वच्छता, समानता, सदभाव, स्वालंबन एवं समृद्धि की ओर बढ़ता समाज * * * * ग्राम चौपाल में आपका स्वागत है

वीकेंड में शराब तो तबि‍यत खराब

>> 20 फ़रवरी, 2011

 सप्ताहांत में पीने वालों के लि‍ए शराब खतरनाक


हफ्ते के अंत में अत्यधिक शराब पीने वालों के लिए बुरी खबर है।  रोजाना शराब पीने वालों की तुलना में सप्ताहांत में पीने वाले लोगों के जीवन को ज्यादा खतरा हो सकता है। 

फ्रांस के ट्यूलूस विश्वविद्यालय के अनुसंधानकर्ताओं ने यह खुलासा किया है। उन्होंने फ्रांस के तीन कस्बों में अधे़ड़ अवस्था वाले लोगों की पीने की आदतों की तुलना उत्तरी आयरलैंड के बेलफास्ट के लोगों से की। समाचार 'डेली मेल' ने ब्रिटेन की एक चिकित्सा पत्रिका की रिपोर्ट के हवाले से बताया कि फ्रांस के नागरिकों ने एक सप्ताह में करीब 30 यूनिट शराब का सेवन किया।

उत्तरी आयरलैंड के प्रांत अलस्टर के लोगों ने एक सप्ताह में करीब 22 यूनिट शराब पी। रिपोर्ट के मुताबिक फ्रांस के नागरिकों में रक्तचाप की मात्रा ज्यादा पाई गई। इनमें से ज्यादातर लोग मधुमेह के शिकार थे जबकि दोनों देशों के लोगों में कोलेस्ट्राल का स्तर एक पाया गया।

शोधकर्ताओं ने बताया कि यह महत्वपूर्ण रूप से पाया गया कि फ्रांस के नागरिकों ने शराब का सेवन करीब पूरे सप्ताह थोड़ी-थोड़ी मात्रा में किया। जबकि अलस्टर के लोगों ने सप्ताह के अंतिम दो दिनों में जमकर शराब पी।

यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन के मुताबिक यह नया शोध अधेड़ अवस्था वाले लोगों के लिए चेतावनी है। वे शराब का सेवन अत्यधिक मात्रा में कर उससे हृदय का सुरक्षात्मक प्रभाव खो देते हैं।

6 टिप्पणियाँ:

ललित शर्मा 20 फ़रवरी 2011 को 1:11 am  

फ़्रांस वाले समझदार निकले जी।
मतलब दैनिक यात्री होना लाभदायक है:)))

राजीव तनेजा 20 फ़रवरी 2011 को 1:31 am  

महँगी हुई शराब के थोड़ी-थोड़ी पिया करें....

Rahul Singh 20 फ़रवरी 2011 को 7:05 am  

इस अनुसंधान का तो पता नहीं, लेकिन आजकल ऐसे अनुसंधान अक्‍सर प्रायोजित ही अधिक हो रहे हैं.

manish 20 फ़रवरी 2011 को 12:35 pm  

शराब पीने वालों के लिए बुरी खबर है

jainanime 21 फ़रवरी 2011 को 9:00 am  

na सप्ताहांत में न ही प्रतिदिन शराब तो ख़राब ही hai

एक टिप्पणी भेजें

About This Blog

  © Blogger template Webnolia by Ourblogtemplates.com 2009

Back to TOP