Blogger द्वारा संचालित.
ग्राम चौपाल में आपका स्वागत है * * * * नशा हे ख़राब झन पीहू शराब * * * * जल है तो कल है * * * * स्वच्छता, समानता, सदभाव, स्वालंबन एवं समृद्धि की ओर बढ़ता समाज * * * * ग्राम चौपाल में आपका स्वागत है

गर्म पानी से नहाने से होता है दिल का दौरा

>> 29 अप्रैल, 2011

सर्दी के मौसम में गर्म पानी से नहाने से ठण्ड से राहत तो मिलती है लेकिन यह दिल के दौरे की वजह भी बन सकता है. जापान में हुए एक नए अध्ययन में यह बात सामने आई है.

 जब मौसम सर्द हो तब ठन्डे पानी में हाथ डालने का भी किसी का मन नहीं करता, ऐसे में ठन्डे पानी से नहाने के बारे में तो सोचना भी मुश्किल होता है. जापान में हुए एक अध्ययन में यह बात सामने आई है कि अगर सर्दी में गर्म पानी से नहाया जाए तो उस से दिल का दौरा पड़ने का खतरा बढ़ जाता है. जापान की क्योटो प्रिफेकचुरल यूनिवर्सिटी में यह शोध किया गया. रिसर्च टीम का नेतृत्व करने वाले चिका निशियामा बताते हैं कि गर्मियों की तुलना में सर्दियों में दिल के दौरे के मामले दस गुना बढ़ जाते हैं.

एशियाई देशों में पश्चिमी देशों की तरह सेन्ट्रल हीटिंग की व्यवस्था नहीं होती. ऐसे में गर्म पाने से नहाना ठण्ड से राहत पाने का एकमात्र उपाय समझा जाता है. खासकर जापान में लोग सर्दियों में काफी समय गर्म पानी के टब में बिताना पसंद करते हैं. इसी कारण वहां ऐसे स्पा भी हैं जहां लोग खास तौर से हॉट वॉटर ट्रीटमेंट के लिए जाते हैं.

निशियामा की टीम ने 2005 से 2007 के बीच हुए दिल के दौरे के 11,000 मामलों की जांच की. जांच में सामने आया कि जिन लोगों को दौरा पड़ा था उन में से 22 प्रतिशत लोग सो रहे थे, 9 प्रतिशत नहा रहे थे, 3 प्रतिशत काम कर रहे थे और 0.5 प्रतिशत व्यायाम कर रहे थे. बाकी लोगों के बारे में कोई जानकारी नहीं है. लेकिन जब दौरे की असली वजह की जांच की गई तो पता चला कि सबसे अधिक दौरे नहाने और उसके बाद व्यायाम के कारण पड़े. बाहर के तापमान का भी इसमें बड़ा हाथ है. मतलब बाहर जितनी ज्यादा सर्दी हो गर्म पानी से नहाना उतना ही खतरनाक होता है. ऐसा इसलिए क्योंकि शरीर बाहर के तापमान और पानी के तापमान के बीच ठीक से संतुलन नहीं बना पाता  और रक्त चाप गिर जाता है.DW HINDI






5 टिप्पणियाँ:

Rahul Singh 29 अप्रैल 2011 को 5:24 am  

सरद-गरम से बचने की नसीहत बड़े-बुजुर्ग देते ही हैं.

प्रवीण पाण्डेय 29 अप्रैल 2011 को 10:04 am  

अब ठंडे से ही नहायेंगे।

Swarajya karun 29 अप्रैल 2011 को 10:48 am  

इसीलिए गाया जाता है-
ठंडे-ठंडे पानी से नहाना चाहिए,
गाना आए या न आए गाना चाहिए !

राज भाटिय़ा 29 अप्रैल 2011 को 9:56 pm  

पता नही यह शोध कैसे करते हे, हमारे यहां तो हम सब बारह महीने गर्म पानी से नहाते हे, ठंडे पानी से नहान तो दुर कोई हाथ भी नही धो सकता, इतना ठंडा पानी होता हे, यहां स्विमिंग पुल मे भी पानी को गर्म किया जाता हे,

एक टिप्पणी भेजें

चिट्ठाजगत

  © Blogger template Webnolia by Ourblogtemplates.com 2009

Back to TOP