Blogger द्वारा संचालित.
ग्राम चौपाल में आपका स्वागत है * * * * नशा हे ख़राब झन पीहू शराब * * * * जल है तो कल है * * * * स्वच्छता, समानता, सदभाव, स्वालंबन एवं समृद्धि की ओर बढ़ता समाज * * * * ग्राम चौपाल में आपका स्वागत है

बच गई दुनिया

>> 21 मई, 2011

                   
               दुनिया बच गई है आप सबको बहुत बहुत बधाई . हेराल्ड   कैंपिंग का दावा खोखला साबित हो गया है .दरअसल   अमेरिका के एक ईसाई धर्मगुरु 89 वर्षीय हेराल्ड   कैंपिंग  ने दावा किया  था कि  21 मई को पूरी दुनिया खत्म हो जाएगी.

                   अमेरिका के उक्त   धर्मगुरु ने यह
भी दावा किया था  कि उन्हें बाइबल में दी गई तारीखों का अर्थ  समझ  में आ गया है, जिसके अनुसार 21 मई 2011 को दुनिया का अंत होना निश्चित है. 89 वर्षीय हेराल्ड   कैंपिंग के अनुसार हर देश में सुबह के छह बजे से तबाही शुरू हो जाएगी. इसकी शुरुआत न्यूजीलैंड से होगी.  कैम्पिंग ने यह भी कहा था  कि तबाही होने से पहले जो सबसे अच्छे ईसाई है वे स्वर्ग में पहुंच जाएंगे तथा जो  लोग 21 मई को स्वर्ग के दरवाजे तक नहीं पहुंच सकेंगे उन्हें धरती पर ही 21 अक्टूबर तक नर्क भोगना होगा. इसके बाद गुस्साए भगवान धरती को पूरी तरह तबाह कर देंगे. कैंपिंग ने यह भी दावा किया था कि यह वो  तारीख है जब जीसस क्राइस्ट दोबारा धरती पर आएंगे .

                 प्रलय की आशंका से  अमेरिका के  लोगों ने आज के दिन को अपने जीवन के  " अंतिम दिन " के रूप में मनाया तथा खूब पिकनिक किया .अब धर्म गुरु महोदय क्या सफाई देते है इंतजार करना पड़ेगा . खैर दुनिया तो बच गई पर धर्म गुरू की लाज क्या बच पाई ?

8 टिप्पणियाँ:

Rahul Singh 21 मई 2011 को 10:05 am  

ये दुनिया भी कोई दुनिया है बतर्ज ये जीना भी कोई जीना है लल्‍लू.

अशोक बजाज 21 मई 2011 को 10:40 am  

@ Rahul Singh jee ,

जीना इसी का नाम है .

Er. Diwas Dinesh Gaur 21 मई 2011 को 1:55 pm  

हेराल्ड कैपिंग जैसे बहहुत घुमते हैं...यह तो एक षड्यंत्र था ईसाईयों का...इसका दर दिखा कर सभी को इसाई बनाने का पूरा प्लान था...
अब देखते हैं इनका क्या हाल हो...
आभार...

Swarajya karun 21 मई 2011 को 2:25 pm  

अफवाहों से सावधान रहने में ही दुनिया की भलाई है .

प्रवीण पाण्डेय 21 मई 2011 को 2:50 pm  

मरने के पहले नहीं मरना है।

सतीश कुमार चौहान 21 मई 2011 को 8:13 pm  

चलो बजाज जी हम आप और ये भष्‍टाचार यू ही चलता रहेगा ....मुबारक हो हम जिन्‍दा हैं ....सतीश कुमार चौहान , भिलाई

Rajendra Swarnkar : राजेन्द्र स्वर्णकार 22 मई 2011 को 12:16 am  

चलिए , इनकी पाखंड लीला की भी पोल खुल गई …

एक की बहुत पहले खुल गई थी


कयामत की कल्पना … … … आगे कहना व्यर्थ है !

आदरणीय अशोक बजाज जी
अच्छी रोचक पोस्ट के लिए बहुत बहुत आभार !

साथ ही
हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं !

- राजेन्द्र स्वर्णकार

jainanime 30 मई 2011 को 11:12 pm  

इस तरह के दावे पहले भी कई लोगों ने किये हैं लेकिन वे दावे महज अफवाह बनकर रह गए. हमारे धर्म शास्त्रों में स्पष्ट रूप में लिखा है की दुनिया का अंत कब होगा और किस तरह से होगा कुछ लोग जो की अल्पज्ञानी होते हैं अपने अल्पज्ञान से इस तरह की अफवाहें फैलाकर नाम कमाना चाहते हैं .

एक टिप्पणी भेजें

About This Blog

  © Blogger template Webnolia by Ourblogtemplates.com 2009

Back to TOP