Blogger द्वारा संचालित.
ग्राम चौपाल में आपका स्वागत है * * * * नशा हे ख़राब झन पीहू शराब * * * * जल है तो कल है * * * * स्वच्छता, समानता, सदभाव, स्वालंबन एवं समृद्धि की ओर बढ़ता समाज * * * * ग्राम चौपाल में आपका स्वागत है

जिला सहकारी संघ मर्यादित रायपुर का स्वर्ण जयंती समारोह

>> 04 अगस्त, 2011

मुख्यमंत्री को ‘सहकारिता रत्न’ सम्मान

        मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह को आज रात यहां उनके निवास पर छत्तीसगढ़ राज्य भण्डारगृह निगम के अध्यक्ष श्री अशोक बजाज के नेतृत्व में आए सहकारिता आन्दोलन से जुड़े विभिन्न संगठनों के प्रतिनिधि मण्डल ने ‘सहकारिता रत्न’ सम्मान से नवाजा। उल्लेखनीय है कि रायपुर जिला सहकारी संघ के आज मनाए गए स्वर्ण जयंती समारोह में मुख्यमंत्री अपरिहार्य कारणों से शामिल नहीं हो पाए थे। इसलिए प्रतिनिधि मण्डल ने उनके निवास पर आकर उन्हें सहकारिता रत्न सम्मान प्रदान किया।

    प्रतिनिधि मण्डल ने छत्तीसगढ़ में सहकारिता आन्दोलन के माध्यम से गांव, गरीब और किसानों की बेहतरी के लिए मुख्यमंत्री द्वारा लिए गए ऐतिहासिक फैसलों और संचालित योजनाओं का उल्लेख करते हुए उनका अभिनन्दन भी किया। सहकारिता प्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री को अभिनन्दन पत्र भेंट किया। सहकारिता प्रतिनिधियों ने कहा कि मुख्यमंत्री के नेतृत्व में राज्य में जहां सहकारी समितियों के माध्यम से किसानांे को सिर्फ तीन प्रतिशत वार्षिक ब्याज पर खेती के लिए ऋण सुविधा मिल रही है, वहीं इन समितियों के जरिए समर्थन मूल्य नीति के तहत धान खरीदी का कार्य भी सफलता पूर्वक चल रहा है। उन्होंेने  मुख्यमंत्री को बधाई देते हुए कहा कि डॉ. रमन सिंह के कुशल नेतृत्व में छत्तीसगढ़ को वर्ष 2010-11 में सर्वाधिक चावल उत्पादन के लिए भारत सरकार की ओर से राष्ट्रीय पुरस्कार मिला है और स्वयं प्रधानमंत्री ने पिछले महीने की सोलह तारीख को नई दिल्ली में मुख्यमंत्री को यह पुरस्कार प्रदान किया है।

    प्रतिनिधि मण्डल में छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी विपणन संघ के अध्यक्ष श्री राधाकृष्ण गुप्ता, उपाध्यक्ष श्रीमती शांति मांझी, ब्रेवरेज कार्पोरेशन के अध्यक्ष एवं विधायक श्री देवजी भाई पटेल, जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक दुर्ग के अध्यक्ष श्री प्रीतपाल बेलचन्दन, जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक राजनांदगांव के अध्यक्ष श्री शशिकांत द्विवेदी, जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक बिलासपुर के अध्यक्ष श्री देवेन्द्र पाण्डेय, जिला सहकारी संघ रायपुर के अध्यक्ष श्री कुमार सिंह और संचालक राज्य सहकारी बैंक श्री रमाकांत द्विवेदी, उपभोक्ता सहकारी संघ की संचालक श्रीमती हेमलता परते सहित अनेक प्रतिनिधि शामिल थे।

कमजोर वर्गों का उत्थान सहकारिता से ही संभव : श्री कंवर

 

गांवों के विकास के लिए सहकारिता की भावना पैदा करनी होगी : श्री अग्रवाल



गृह, जेल एवं सहकारिता मंत्री श्री ननकीराम कंवर ने कहा कि सहकारिता के माध्यम से ही समाज के कमजोर वर्गों का उत्थान संभव है। समाज के कमजोर वर्गों के उत्थान के लिए सहकारी समितियां गठित कर रोजगार के अवसर बढ़ाए जा सकते हैं । उन्होंने कहा कि कमजोर वर्गों के उत्थान से ही प्रदेश का विकास होगा। श्री कंवर जिला सहकारी संघ मर्यादित रायपुर की स्थापना के पचास वर्ष पूरे होने पर आज यहां शहीद स्मारक भवन में  आयोजित स्वर्ण जयंती समारोह को मुख्य अतिथि की आसंदी से सम्बोधित कर रहे थे। इस अवसर पर सहकारिता मंत्री श्री कंवर ने जिला सहकारी संघ मर्यादित रायपुर के 50 वर्ष पूरे होने पर प्रकाशित स्मारिका का विमोचन किया।

    श्री कंवर ने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के  नेतृत्व में विगत लगभग आठ वर्षों में प्रदेश का  चहुंमुखी विकास हुआ है। एक समय था कि जब किसानों को चौदह प्रतिशत वार्षिक ब्याज दर पर खेती के लिए ऋण लेना पड़ता था लेकिन अब राज्य सरकार ने भरपूर राहत प्रदान कर किसानों को तीन प्रतिशत वार्षिक ब्याज दर पर खेती के लिए ऋण उपलब्ध करा रही है। उन्होंने कहा कि समर्थन मूल्य पर  सहकारी समितियों के जरिए धान खरीदी की व्यवस्था किसानों को दलालों और बिचौलियों से मुक्ति दिलाने का एक सशक्त आधार है। छत्तीसगढ़ प्रदेश की सार्वजनिक वितरण प्रणाली की कामयाबी की चर्चा देश ही नहीं बल्कि विदेशों में भी हो रही है।

    कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए स्कूल शिक्षा और लोक निर्माण मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल ने जिला सहकारी संघ मर्यादित रायपुर की स्थापना के पचास वर्ष पूरे होने पर सहकारिता से जुड़े लोगों को अपनी बधाई और शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि सहकारिता की भावना से ही देश में एकता और अखण्डता कायम है। गांवों के विकास के लिए सहकारिता की भावना पैदा करनी होगी। श्री अग्रवाल ने कहा कि पिछले लगभग आठ वर्षों से मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में राज्य सरकार द्वारा किसानों के हित में कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए हैं। सहकारी समितियों के माध्यम से किसानों को तीन प्रतिशत वार्षिक ब्याज दर पर खेती के लिए अल्पकालीन ऋण की सुविधा दी जा रही है। इस वर्ष चालू खरीफ सीजन में किसानों को एक हजार पांच सौ करोड़ रुपए ऋण वितरण का लक्ष्य है। श्री अग्रवाल ने ग्रामीण युवाओं को रोजगार उन्मुखी योजनाओं से  जोड़ने पर बल दिया। कार्यक्रम के विशेष अतिथि छत्तीसगढ़ राज्य भण्डार गृह निगम के अध्यक्ष श्री अशोक बजाज ने कहा कि छत्तीसगढ़ में सहकारिता आंदोलन का इतिहास बहुत पुराना है। पिछले लगभग आठ वर्षों में सहकारिता के क्षेत्र में जो विकास कार्य हुए हैं, वह अविस्मरणीय है। उन्होंने किसानों के हित और उन्नति के लिए बेहतर काम करते रहने का आह्वान किया। स्वागत भाषण जिला सहकारी संघ रायपुर के अध्यक्ष श्री कुमार सिंह ने दिया।

    स्कूली छात्र-छात्राओं द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया। इस अवसर पर छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी विपणन संघ के अध्यक्ष श्री राधाकृष्ण गुप्ता, राज्य अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष श्री दिलीप सिंह होरा, पंजीयक सहकारी संस्थाएं श्री अमृत खलखों सहित विभिन्न जिलों से आये सहकारी संघों के पदाधिकारी और सदस्य उपस्थित थे।

4 टिप्पणियाँ:

ब्लॉ.ललित शर्मा 4 अगस्त 2011 को 10:53 pm  

सहकारिता के क्षे्त्र में उल्लेखनीय कार्य के लिए शुभकामनाएं

आभार

संगीता पुरी 5 अगस्त 2011 को 5:17 am  

जानकार अच्‍छा लगा !!

प्रवीण पाण्डेय 5 अगस्त 2011 को 6:54 pm  

सहकारिता की भावना में सबका भला है।

PRAMOD KUMAR 5 अगस्त 2011 को 7:25 pm  

प्रदेश में सहकारिता के सशक्तिकरण के लिए सहकारी संस्थाओं को और अधिक स्वायत्ता प्रदान करने तथा सरकारी नियंत्रण कम-से-कम करने की महत्ती आवश्यकता है.............! सहकार से ही चमत्कार संभव है...........! सहकार को नमस्कार..........!

एक टिप्पणी भेजें

About This Blog

  © Blogger template Webnolia by Ourblogtemplates.com 2009

Back to TOP