Blogger द्वारा संचालित.
ग्राम चौपाल में आपका स्वागत है * * * * नशा हे ख़राब झन पीहू शराब * * * * जल है तो कल है * * * * स्वच्छता, समानता, सदभाव, स्वालंबन एवं समृद्धि की ओर बढ़ता समाज * * * * ग्राम चौपाल में आपका स्वागत है

पारम्परिक दिवाली ग्रीटिंग कार्ड की भीड़ में नवाचार

>> 07 नवंबर, 2011


प्रयोगधर्मी शुभकामनाएं

स वर्ष की दिवाली ग्रीटिंग में हमने छत्तीसगढ़ में राम वन गमन मार्ग को प्रदर्शित नक़्शे को प्रकाशित किया था ; जिसे ईष्ट मित्रों से काफी प्रशंसा तो मिली ही पर हमारा मिशन तब और सार्थक हो गया जब छत्तीसगढ़ के लोकप्रिय हिंदी दैनिक नवभारत ने 6 नवंबर 2011 के CG 04 में प्रकाशित करते हुए लिखा है कि ..........

" दीपावली में सुन्दर बधाई संदेशों की भरमार रहती है .इनमें ऐसे सन्देश लेकिन कम ही दिखाई पड़ते है जिनमें कोई नवाचार हो. छत्तीसगढ़ स्टेट हाउसिंग कार्पोरेशन के अध्यक्ष अशोक बजाज इस मोर्चे में कुछ आगे निकल गए है.  उनका कार्ड पारम्परिक कार्ड्स की भीड़ में अलग है. छत्तीसगढ़ में भगवान श्रीराम कहाँ से कहाँ होते गुजरे इसे उन्होंने दिखाया है. शोध की दृष्टि से एवं सामान्य जिज्ञासा, दोनों के नजरिये से प्रभावकारी है. संग्रहण के नजरिये से भी इस कार्ड की अहमियत है . "


नवभारत रायपुर 6/11/2011
मूल दिवाली ग्रीटिंग कार्ड


6 टिप्पणियाँ:

जी.के. अवधिया 7 नवंबर 2011 को 3:40 pm  

अभिनव प्रयोग है यह आपका अशोक जी!

अवश्य ही इससे हमारा छत्तीसगढ़ गौरवान्वित होगा।

PRAMOD KUMAR 8 नवंबर 2011 को 12:42 pm  

अत्यंत सुंदर, दीपावली की शुभकामनाओं के साथ-साथ प्राचीन ऐतिहासिक ज्ञान कराता सबके मन को भाता शुभकामना संदेश....................!

प्रेम सरोवर 9 नवंबर 2011 को 9:18 pm  

आपके पोस्ट पर आना सार्थक सिद्ध हुआ । पोस्ट रोचक लगा । मेरे नए पोस्ट पर आपका आमंत्रण है । धन्यवाद ।

राजभाषा हिंदी 9 नवंबर 2011 को 10:57 pm  

बहुत अच्छी प्रस्तुति। हार्दिक शुभकामनाएं!

एक टिप्पणी भेजें

About This Blog

  © Blogger template Webnolia by Ourblogtemplates.com 2009

Back to TOP