Blogger द्वारा संचालित.
ग्राम चौपाल में आपका स्वागत है * * * * नशा हे ख़राब झन पीहू शराब * * * * जल है तो कल है * * * * स्वच्छता, समानता, सदभाव, स्वालंबन एवं समृद्धि की ओर बढ़ता समाज * * * * ग्राम चौपाल में आपका स्वागत है

मनमीत जो घाव लगाये, उसे कौन मिटाये

>> 03 दिसंबर, 2013



                       त्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के लिए दो चरणों में मतदान हो चूका है. पहले चरण में बस्तर संभाग के 12 क्षेत्रों एवं राजनांदगांव जिले के 6 क्षेत्रों कुल 18 सीटों के लिए 11 नवंबर को तथा शेष 72 क्षेत्रों के लिए 19 नवंबर को मतदान हुआ है. मतगणना 8 दिसंबर को होगी, मतदान और मतगणना के बीच लंबा अंतराल है. अतः परिणाम आने में अभी वक्त है. यही वजह है कि इन दिनों घात - प्रतिघात, भीतरघात - खुलाघात जैसी बातें सुर्खियाँ बन रही है. आश्चर्य की बात तो यह है कि कांग्रेस के नेता इन तमाम परिस्थितियों के बाद भी सत्ता में वापसी का सपना देख रहें है , मुख्यमंत्री कौन होगा ? विधायक दल के अन्दर का होगा अथवा बाहर का होगा ? रायपुर में तय होगा कि दिल्ली में तय होगा आदि आदि . यानी सूत न कपास जुलाहों में लट्ठा-लट्ठी.


                        खैर भीतरघात हो या खुलाघात ये बहुत बुरी चीज है. विधानसभा, लोकसभा ही नहीं पंचायतों एवं नगरीय निकायों के चुनाव में भी यह बीमारी घुस गई है. मै स्वयं 1998 के विधान सभा चुनाव में खुलाघात और भीतरघात का स्वाद चख चुका हूँ , तब मैंने भारतीय जनता पार्टी की टिकिट पर अभनपुर विधानसभा से चुनाव लड़ा था और बागी उम्मीदवार तथा भीतरघात के चलते लगभग 7000 मतों से हार गया था  लेकिन 15 वर्षों से मैंने इसका जिक्र तक नहीं किया. मैंने सभी भीतरघातियों को धीरे- धीरे मुख्यधारा में लाकर उन्हें प्रायश्चित करने का अवसर दिया. आवश्यकता पड़ने पर उनकी मदद भी की. यह अलग बात है कि उस आघात का दुष्परिणाम मै आज तक भुगत रहा हूँ ---  

हमसे मत पूछो कैसे, मंदिर टूटा सपनों का, 
लोगों की बात नहीं है, ये किस्सा है अपनों का,
कोई दुश्मन ठेस लगाये, तो मीत जिया बहलाये,
मनमीत जो घाव लगाये, उसे कौन मिटाये.
चिंगारी कोई भड़के, तो सावन उसे बुझाये
सावन जो अगन लगाये, उसे कौन बुझाये,

Read more...

आओ फिर से दिया जलाएँ

>> 04 नवंबर, 2013

आओ फिर से दिया जलाएँ

भरी दुपहरी में अँधियारा
सूरज परछाईं से हारा
अंतरतम का नेह निचोड़ें-
बुझी हुई बाती सुलगाएँ।

आओ फिर से दिया जलाएँ
हम पड़ाव को समझे मंज़िल
लक्ष्य हुआ आँखों से ओझल
वर्तमान के मोहजाल में-
आने वाला कल न भुलाएँ।

आओ फिर से दिया जलाएँ।
आहुति बाकी यज्ञ अधूरा
अपनों के विघ्नों ने घेरा
अंतिम जय का वज्र बनाने-
नव दधीचि हड्डियाँ गलाएँ।
आओ फिर से दिया जलाएँ


                                        - अटल बिहारी वाजपेयी


आप सबको दीपावली की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएँ !

Read more...

रेडियों के कार्यक्रमों में फूहड़ता और अश्लीलता नहीं होती

>> 24 अगस्त, 2013

रेडियो श्रोता दिवस पर राष्ट्रीय संगोष्ठी 

                             
                         त्तीसगढ़ रेडियो श्रोता संघ रायपुर के तत्वाधान में 20 अगस्त 2013 को रेडियो श्रोता दिवस के अवसर पर "संचार क्रांति के युग में रेडियो की प्रासंगिकता में श्रोताओं की भूमिका" विषय पर राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया गया. कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रदेश के वरिष्ठ रेडियो श्रोता एवं स्टेट वेयर हाऊसिंग के अध्यक्ष श्री अशोक बजाज ने की. इस संगोष्ठी में वक्ता के रूप में देश के जाने माने पत्रकार व संचालक हिंदी ग्रन्थ एकादमी श्री रमेश नैयर, फिल्म निर्माता एवं निर्देशक श्री मनु नायक, उपसंचालक संस्कृति व पुरातत्व विभाग श्री राहुल सिंह तथा आकाशवाणी रायपुर के कार्यक्रम अधिशाषी श्री समीर शुक्ला ने उपस्थित श्रोताओं एवं प्रबुद्ध नागरिकों को संबोधित करते हुए रेडियो की महत्ता पर प्रकाश डाला. सभा स्थल पर श्री मनोहर डेंगवाणी द्वारा संग्रहित पुराने रेडियो की प्रदर्शनी भी लगाई गई थी. 1947 के पूर्व के रेडियो सेटों को चालू हालत में देखकर सभी लोग हतप्रद हो गए.   
       
             
                          इस अवसर पर उपस्थित जनसमुदाय को संबोधित करते हुए श्री अशोक बजाज ने कहा कि संचार क्रांति के इस युग में रेडियो की महत्ता को बरकरार रखने में श्रोताओं की मुख्य भूमिका है. रेडियो श्रोताओं की सक्रियता की वजह से ही रेडियो के कार्यक्रमों की गुणवत्ता कायम है. उन्होंने आगे कहा कि अन्य संचार माध्यमों की तरह रेडियों के कार्यक्रमों में फूहड़ता और अश्लीलता नहीं होती.

                          कार्यक्रम में हज कमेटी के चेयरमैन डा. सलीम राज, आकाशवाणी के एनाउंसर श्री श्याम वर्मा, श्री दीपक हटवार, श्री सालोमन के अलावा श्री ललित शर्मा, सुरेन्द्र हंसपाल, श्री प्रकाश बजाज, श्री विनोद वंडलकर, श्री मोहन देवांगन, श्री रतन जैन, श्री सुरेश सरवैय्या एवं कमल लखानी के अलावा भारी संख्या में लोग उपस्थित थे.

                           स्मरण रहे कि प्रति वर्ष 20 अगस्त को रेडियो श्रोता दिवस के रूप में मनाने की परंपरा छत्तीसगढ़ के रेडियो श्रोताओं ने की है , अब भारत के अनेक हिस्से में रेडियो श्रोता दिवस मनाने का सिलसिला शुरू हो गया है.






by - ashok bajaj chhattisgarh radio listnenars sangh raipur

Read more...

विकास यात्रा 2013

>> 22 अगस्त, 2013

माननीय मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह ने मूसलाधार बारिस के बीच दिनांक 19 अगस्त 2013 को अपने प्रदेशव्यापी विकास यात्रा की शुरुवात रायपुर जिले के आरंग कस्बे से की . इस यात्रा को हरी झंडी दिखाने के लिए देश की प्रखर सांसद एवं लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष श्रीमती सुषमा स्वराज पहुँची थी . आरंग से यह यात्रा ओड़का, भिलाई, चरौदा, तामासिवनी, तोरला, पोंड़, जौंदा, नवागांव, कोलियारी, पारागांव होते हुए शाम 6 बजे नवापारा राजिम पहुँची. नवापारा से कुर्रा, बजरंगपुर पिपरौद, हसदा, मानिकचौरी, गातापार होते हुए रात 9 बजे यह यात्रा अभनपुर पहुँची. अभनपुर से झांकी, केंद्री, निमोरा, मानाबस्ती, बोरियाकलां होते हुए रात 11.30 बजे मनाकैंप में समाप्त हुई. इस लंबी यात्रा में हम आगे आगे चल रहे थे , रास्ते में जगह जगह हमें स्वागत करने वालों का हुजूम दिखाई दिया. 
लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष श्रीमती सुषमा स्वराज प्रदेशव्यापी विकास यात्रा के चौंथे चरण की शुरुवात करने 19 अगस्त को आरंग पहुँची तो लोग स्वागत के लिए उमड़ पड़े.
       
विकास यात्रा 2013 - चरौदा (आरंग) में मान. मुख्यमंत्री का बेसब्री से इंतजार करते लोग.

विकास यात्रा 2013 - तामासिवनी में मान. मुख्यमंत्री का एक झलक पाने लोग छतों में चढ़े है . 19.08.2013

Read more...

स्वतंत्रता दिवस 2013

>> 17 अगस्त, 2013


स्वतंत्रता दिवस की आप सबको हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएँ -



स्वतंत्रता दिवस के उन कार्यक्रमों की झलकियाँ जिसमें हम शरीक हुए ---
स्वतंत्रता दिवस 2013 : चौपाल रायपुर (आवासीय कार्यालय)

स्वतंत्रता दिवस 2013 : मुख्यालय, स्टेट वेयर हाउसिंग कार्पोरेशन रायपुर.

                                                                              
स्वतंत्रता दिवस 2013 : स्टेट वेयर हाउसिंग कार्पोरेशन शाखा अभनपुर.
                                                                                       
स्वतंत्रता दिवस 2013 : सरस्वती शिशु मंदिर अभनपुर.
                                                                         
स्वतंत्रता दिवस 2013 : शा. कन्या हायर सेकेंडरी स्कूल अभनपुर.









                                                     




Read more...

"कश्मीर का सच" कितना सच और कितना झूठ

>> 28 जुलाई, 2013



                क राष्ट्रीय न्यूज चैनल द्वारा दिखाया जा रहा "कश्मीर का सच" पता नहीं यह कितना सच और कितना झूठ है ? उस पीढ़ी के लोग तो अब रहे नहीं जो इस तथाकथित "सच" की समीक्षा करते, पर इतिहास तो यही कहता है कि जम्मू-कश्मीर का भविष्य पंडित नेहरू, लार्ड माउंटबेटन और शेख मोहम्मद अब्दुल्ला की दोस्ती की भेंट चढ़ गया. अगर सरदार पटेल को पूरी छूट मिली होती तो कश्मीर समस्या उसी समय समाप्त हो चुकी होती , लेकिन पंडित नेहरू का अब्दुल्ला प्रेम इसमें आड़े आ गया. इस न्यूज चैनल ने कश्मीर रियासत को भारत में विलय में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के तत्कालीन सरसंघचालक श्री माधवराव सदाशिव राव गोलवलकर जी की भूमिका का अपने रपट में कहीं उल्लेख ही नहीं किया जबकि उन्होंने ही कश्मीर के भारत में विलय में मुख्य भूमिका अदा की थी. उक्त रपट में केवल पंडित नेहरू को ही महिमा मंडित करने का प्रयास किया गया. रपट में यह जानकारी भी छुपाई गई कि जब भारतीय सेना ने कश्मीर के दो तिहाई हिस्से से पाकिस्तानी समर्थकों को खदेड़ दिया था तो पं. नेहरू ने सीज फायर की घोषणा कर भारतीय सेना को वापस लौटने का आदेश किसके इशारे पर दिया तथा  पं. नेहरू ने किसके इशारे पर कश्मीर में धारा 370 लगाई ? बहरहाल पूरे रपट में लार्ड माउंटबेटन को भारत का महान राष्ट्र भक्त घोषित करने के पीछे उनकी मंशा क्या है इसे गहराई से समझने की जरुरत है.
                               - ASHOK BAJAJ RAIPUR CHHATTISGARH

Read more...

इंदिरा बैंक के खातेदारों को कांग्रेस झांसा दे रही है- बजाज

>> 24 जुलाई, 2013

प्रेस विज्ञप्ति
रायगढ़ सहित कई मृतप्राय बैंकों को भाजपा सरकार ने पुनर्जीवित किया

    रायपुर/भारतीय जनता पार्टी सहकारिता प्रकोष्ठ के प्रदेशाध्यक्ष अशोक बजाज ने आज प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि इंदिरा प्रियदर्शिनी बैंक के खातेदारों को बरगलाने वाले कांग्रेस के नेता उस वक्त कहां सोये थे जब जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक रायगढ़ के 87 हजार खातेदारों का 42 करोड़ रूपिया डूब रहा था,  जबकि उस समय प्रदेश में उनकी सत्ता थी। उन्होंने आरोप लगाया कि तत्कालीन सरकार ने बैंक को बचाने के लिए रिजर्व बैंक द्वारा दिये गए सुझावों की भी अनदेखी करते हुए गारण्टी देने से इंकार कर दिया था,  यदि सरकार गारण्टी दे देती तो बैंक का अस्तित्व समाप्त नहीं होता। उस समय कांग्रेस के नेताओं ने 87 हजार कृषक खातेदारों की कोई परवाह नहीं की। उन्होंने कहा कि बैंक के डूब जाने से बैंक में कार्यरत 300 अधिकारी/कर्मचारी भी बेरोजगार हो गये हैं।

    श्री बजाज ने कहा कि रायगढ़ सहकारी बैंक के डूबने के पहले रिजर्व बैंक के डिप्टी गवर्नर के नेतृत्व में आयी टीम ने रायपुर को छोड़कर सभी जिला सहकारी बैंकांे की वित्तीय हालत पर चिंता प्रकट की थी। यदि सन् 2003 में प्रदेश में डॉ0 रमनसिंह की सरकार नहीं बनती तो रायगढ़ के साथ-साथ बिलासपुर, सरगुजा, दुर्ग, राजनांदगांव एवं बस्तर के जिला सहकारी बैंक भी डूब चुके होते। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने इस बैंकों की हालत सुधारने का काम किया है,  फलस्वरूप आज सभी जिला सहकारी बैंक फायदे में चल रहे हैं।
    श्री बजाज ने कहा कि कांग्रेस शासनकाल में केवल सहकारी बैंक ही नहीं, बल्कि प्राथमिक सहकारी समितियों, विपणन सहकारी समितियों एवं कृषि व ग्रामीण विकास बैंकों की माली हालत खराब हो चुकी थी, इसके अलावा अनेक नागरिक सहकारी बैंक भी डूबने के कगार पर थे। अधिकांश  सहकारी संस्थाओं एवं समितियों को आर्थिक पैकेज देकर भाजपा सरकार ने पटरी पर लाया है।
    श्री बजाज ने कहा कि भाजपा सरकार आने के बाद जिला सहकारी बैंक रायगढ़ को पुनर्स्थापित करने का लगातार प्रयास हो रहा है फलस्वरूप रिर्जव बैंक ने रायगढ़ के स्थान पर जशपुर में जिला सहकारी बैंक की स्थापना के लिए सहमति प्रदान कर दी है। शीघ्र ही पंजीयन के बाद यह बैंक अस्तित्व में आ जायेगा,  जिसमें जशपुर के अलावा रायगढ़ जिला भी शामिल होगा।
    श्री बजाज ने कहा कि कांग्रेस ने हमेशा सहकारी आंदोलन को कुचलने का तथा सहकारी संस्थाओं को डूबोने का ही काम किया है, जबकि भाजपा ने सत्ता में आते ही मृतप्राय सहकारी संस्थाओं को जीवनदान देकर सहकारी आंदोलन के प्रति प्रदेश की जनता का विश्वास बढ़ाया है। उन्होंने कहा कि सहकारी बैंकों की नैया डूबाने वाले वही नेता इंदिरा प्रियदर्शनी बैंक के खातेदारों को झांसा दे रहे हैं कि यदि हमारी सरकार आयी तो हम आपका पैसा लौटा देंगे। श्री बजाज ने इंदिरा प्रियदर्शनी बैंक के खातेदारों से अपील की है कि वे ऐसे नेताओं के झांसे में न आयें।

Read more...

खाद्यान्न सुरक्षा पहली प्राथमिकता

>> 19 जुलाई, 2013

    छत्तीसगढ़ स्टेट वेयरहाउसिंग कारर्पोशन की संभागीय बैठक सम्पन्न

                                                                         (समाचार)

अम्बिकापुर 18 जुलाई 2013

 छत्तीसगढ़ स्टेट वेयर हाउसिंग के अध्यक्ष श्री अशोक बजाज ने आज जिला कार्यालय के सभाकक्ष में आयोजित संभागीय बैठक में कहा कि राज्य सरकार की पहली प्राथमिकता खाद्यान्न की सुरक्षा है। इस हेतु भण्डारण क्षमता बढ़ाने विशेष प्रयास किए जा रहे हैं और नए गोदामों का निर्माण किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि पिछले तीन वर्षों में लगभग 74 हजार मीट्रिक टन क्षमता वाले गोदम बनाए गए हैं, वहीं लगभग 28 हजार 800 मीट्रिक टन क्षमता के नए गोदाम आमागी 6 माह में बनकर तैयार हो जाएगा। लगभग 28 हजार मीट्रिक टन क्षमता वाले गोदाम तीन वर्ष पुराने हैं।

सरगुजा संभाग के सभी 20 शाखाओं के प्रबंधकों की समीक्षा बैठक में प्रत्येक केन्द्र की गतिविधियों की समीक्षा की गई। श्री बजाज ने सभी प्रबंधकों को चावल भण्डारण के निर्देश देते हुए बरसात में कीट मुक्त उपचार के पश्चात भण्डारण के निर्देश दिए हैं। श्री बजाज ने बताया कि चालू सत्र में धान खरीदी व कस्टम मिलिंग के बाद सभी जगहों पर चावल का भण्डारण हो रहा है। सरगुजा संभाग में वर्तमान में 73 हजार मीट्रिक टन क्षमता वाले गोदाम है, जिसमें शत्-प्रतिशत भण्डारण कर लिया गया है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के निर्देश पर चावल के एक-एक दाने का भण्डारण वैज्ञानिक तरीके से किया जा रहा है, जिसे सार्वजनिक वितरण प्रणाली के माध्यम से आम जनता को गुणवत्तापूर्ण चावल वितरण किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि निगम का मुख्य उद्देश्य कृषकों, व्यापारियों, संस्थागत एवं अन्य जमाकर्ताओं के स्टॉक का वैज्ञानिक तरीके से भण्डारण करना है। निगम द्वारा सामान्य कृषकों को जमा किए गए स्कंध के भण्डारण शुल्क में 20 प्रतिशत की छूट दी जा रही है तथा अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के कृषकों को 30 प्रतिशत की छूट दी जा रही है। साथ ही यदि कोई किसान अपना उत्पाद माल भण्डार गृहों में जमा कराने के लिए पहले से स्थान आरक्षित करना चाहते हैं, तो निगम द्वारा सुविधा प्रदान की जाएगी। 4 माह का अग्रिम भण्डारण शुल्क जमा करने पर 5 प्रतिशत की छूट दी जाती है। समीक्षा बैठक में सरगुजा, जशपुर, कोरिया, सूरजपुर एवं बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के निगमों के शाखा प्रबंधक उपस्थित थे। DPR


Read more...

देश को कांग्रेस मुक्त बनाने के लिए करेंगे काम: मोदी

>> 09 जून, 2013

गोवा में भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में गुजरात के मुख्यमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने चुनाव संचालन समिति का अध्यक्ष मनोनीत होने के बाद आम सभा को संबोधित किया . . .


                   

Read more...

छत्तीसगढ़ की अनाज भण्डारण क्षमता में अप्रत्याशित वृद्धि

>> 05 जून, 2013


छत्तीसगढ़ की अनाज भण्डारण क्षमता लगभग 12 लाख मीटरिक टन तक पहुंची : साढ़े नौ साल में बने 245 करोड़ के 364 नये गोदाम
 भण्डारण शुल्क में सामान्य किसानों को 20 प्रतिशत और अनुसूचित जाति-जनजाति के किसानों को 30 प्रतिशत की विशेष छूट
अनाज भण्डारण के लिए अग्रिम आरक्षण की भी सुविधा
छत्तीसगढ़ जनसंपर्क

                       कृषि उपजों के सुरक्षित भण्डार के लिए छत्तीसगढ़ के किसानों को वैज्ञानिक पद्धति से भण्डारण की सुविधा देने राज्य शासन द्वारा बड़े पैमाने पर गोदामों का निर्माण करवाया जा रहा है। प्रदेश सरकार की एजेंसी के रूप में छत्तीसगढ़ राज्य भण्डार गृह निगम द्वारा विगत वर्ष 2004 से वर्तमान वर्ष 2013 में अब तक लगभग साढे़ नौ साल में 245 करोड़ रूपए की लागत से 364 गोदामों का निर्माण किया गया है, जिनकी भण्डारण क्षमता लगभग सात लाख मीटरिक टन है। इन्हें मिलाकर भण्डार गृह निगम के गोदामों की संख्या बढ़कर 779 और उनकी कुल भण्डारण क्षमता बढ़कर ग्यारह लाख 82 हजार 712 मीटरिक टन तक पहुंच गयी है। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के दिशा-निर्देशों के अनुरूप निगम द्वारा गोदाम निर्माण का कार्य एक अभियान के रूप में चलाया जा रहा है।
छत्तीसगढ़ वेयर हाउसिंग कार्पोरेशन के अध्यक्ष अशोक बजाज 
                              निगम अध्यक्ष श्री अशोक बजाज ने आज यहां बताया कि वर्तमान 779 गोदामों में से 348 गोदामों का निर्माण उनके वर्तमान कार्यकाल के विगत ढाई वर्ष में यानी दिसम्बर 2010 से अब तक की अवधि में किया गया है, जिनकी कुल भण्डारण क्षमता लगभग पांच लाख मीटरिक टन है। उन्होंने बताया कि छत्तीसगढ़ भण्डार गृह निगम की स्थापना दो मई 2002 को हुई थी। किसानों के साथ-साथ व्यापारियों, संस्थाओं और अन्य जमाकर्ताओं को अनाज के सुरक्षित और वैज्ञानिक तरीके से भण्डारण की सुविधा देना निगम का उददेश्य है। इसमें किसानों को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जा रही है। सामान्य किसानों को उनके जमा किए जाने वाले स्टाक पर भण्डारण शुल्क में बीस प्रतिशत की छूट का प्रावधान किया गया है, जबकि अनुसूचित जाति और जनजाति वर्ग के किसानों को तीस प्रतिशत छूट पर भण्डारण सुविधा दी जा रही है। किसान अगर अपना माल निगम के गोदामों में जमा करने के लिए अग्रिम आरक्षण चाहते हों, तो उन्हें इसकी सुविधा भी निगम की ओर से मिल सकती है। किसान अगर चार माह का अग्रिम भण्डारण शुल्क जमा कर दें, तो उन्हें भण्डारण शुल्क में पांच प्रतिशत की विशेष छूट मिलेगी। गोदामों से पांच किलोमीटर की परिधि में रहने वाले किसानों और अन्य लोगों को जो, वहां भण्डारण करवाना चाहते हैं, उन्हें उनके कृषि उपजों की सुरक्षा के लिए कीट उपचार सुविधा भी नाम मात्र के शुल्क पर दी जा रही है।
                               श्री बजाज ने बताया कि निगम द्वारा 68 करोड़ 35 लाख रूपए की लागत से निर्मित 145 नये गोदामों के लोकार्पण का कार्यक्रम भी विकास यात्रा के दौरान बनाया गया था। इन गोदामों की भण्डारण क्षमता दो लाख 31 हजार 800 मीटरिक टन है। इनमें से लगभग 59 गोदामों का लोकार्पण पिछले महीने की छह तारीख से 25 तारीख के बीच विकास यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के हाथों सम्पन्न हो चुका है। लोकार्पित गोदामों में धरसींवा, खरोरा, महासमुंद, बसना, सरायपाली, बागबाहरा, पिथौरा, धमतरी, सिहावा, कुरूद, डौंडी, गुण्डरदेही, कवर्धा, पंडरिया, केशलूर, कोण्डागांव, दंतेवाड़ा, गीदम, कोन्टा, कांकेर, चारामा और पखांजूर क्षेत्र के किसानों को अनाज भण्डारण की अच्छी सुविधा मिलेगी। इनके अलावा भैरमगढ़, जांजगीर, अकलतरा, सक्ती, बाराद्वार, चाम्पा, कोरबा, कटघोरा, पाली, लोहरसिंग, घरघोड़ा, बरमकेला, लैलूंगा, सारंगढ़, खरसिया, कुसमी, विश्रामपुर, सूरजपुर, कुनकुरी, बगीचा, पत्थलगांव, फरसाबहार, बैकुंठपुर और जनकपुर में भी नये गोदामों का निर्माण किया जा चुका है। विगत 25 मई को दरभा क्षेत्र में नक्सल हिंसा के कारण अनेक वरिष्ठ नेताओं, नागरिकों और पुलिस जवानों की शहादत की दुखद घटना के कारण विकास यात्रा स्थगित कर दी गयी थी। इस वजह से इनका लोकार्पण नहीं हो पाया। विकास यात्रा में भण्डार गृह निगम द्वारा मुख्यमंत्री के हाथों लगभग एक लाख 46 हजार मीटरिक टन भण्डारण क्षमता के 77 नये गोदामों के निर्माण के लिए भूमिपूजन का भी कार्यक्रम था। श्री बजाज ने बताया कि इनमें से 44 गोदामों का भूमिपूजन महासमुंद धमतरी, बालोद, भिलाई्र-तीन, केशकाल और चारामा के कार्यक्रमों  सम्पन्न हुआ। भण्डार गृह निगम के पांच क्षेत्रीय कार्यालय रायपुर, बिलासपुर, जगदलपुर, अम्बिकापुर और दुर्ग में संचालित किए जा रहे हैं।
 क्रमांक-878/स्वराज्य,रायपुर, 04 जून 2013

Read more...

मुख्यमंत्री को राज्य भंडार गृह निगम द्वारा 10.50 करोड़ रूपए का चेक भेंट

>> 10 अप्रैल, 2013




मुख्यमंत्री डॉ. रमन  सिंह को आज दोपहर यहां मंत्रालय में खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री श्री पुन्नूलाल मोहले और छत्तीसगढ़ राज्य भंडार गृह निगम के अध्यक्ष श्री अशोक बजाज ने राज्य भंडार गृह निगम की ओर से लाभांश के रूप में दस करोड़ 50 लाख 75 हजार रूपए का चेक भेंट किया। आदिम जाति विकास मंत्री श्री केदार कश्यप भी इस अवसर पर उपस्थित थे। राज्य भंडार गृह निगम के अध्यक्ष श्री अशोक बजाज ने मुख्यमंत्री को बताया कि प्रदेश में राज्य भंडार गृह निगम के 123 भंडार गृह हैं। वर्ष 2011-12 में राज्य भंडार गृह निगम को लगभग 66 करोड़ रूपए की आय हुई है। इसमें से निगम को 29 करोड़ रूपए का लाभ हुआ है। अंश पूंजी के आधार पर इसमें से राज्य सरकार को दस करोड़ 50 लाख 75 हजार रूपए की राशि लाभांश के रूप में दी गई है। उन्होंने बताया कि वर्ष 2002 में छत्तीसगढ़ राज्य भंडारगृह निगम का पुनर्गठन किया गया। आज निगम की भंडारण क्षमता आठ लाख टन हो गई है। इसके अलावा लगभग चार लाख टन क्षमता के गोदाम निगम द्वारा किराए पर लिए जाते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ राज्य भंडार गृह निगम द्वारा निरंतर अच्छी प्रगति की जा रही है। यह राज्य सरकार का लाभ अर्जित करने वाला निगम है। उन्होंने खाद्य मंत्री तथा भंडार गृह निगम के अध्यक्ष को निगम की निरंतर प्रगति के लिए शुभकामनाएं दी। इस अवसर पर राज्य भण्डार गृह निगम के प्रबंध संचालक श्री जन्मेजय महोबे भी उपस्थित थे।

Read more...

आतंक का पर्याय है पाकिस्तान

>> 27 मार्च, 2013




पाकिस्तान अब तक दुनिया के सामने यही कहता आया है कि मई 1999 के करगिल युद्ध में पाक सेना शामिल नहीं है, भारत के खिलाफ यह युद्ध मुजाहिद्दीन लड़ रहे है . भारत की शांति और तरक्की के दुश्मन परवेज मुशर्रफ ने आज आखिरकार सच उगल ही दिया कि 1999 में पाकिस्तानी सैनिक नियंत्रण रेखा पार कर भारतीय सीमा में घुस गये थे. हालांकि यह बात पहले ही प्रमाणित हो चुकी है कि पाक सेना ने करगिल में अनधिकृत रूप से प्रवेश किया था , स्वयं पाकिस्तान के सेवानिवृत्त कर्नल अशफाक हुसैन ने अपनी किताब ‘विटनेस टू ब्लंडर’ में ये खुलासा किया है कि 28 मार्च 1999 को जनरल परवेज मुशर्रफ हेलीकॉप्टर पर सवार होकर भारतीय सीमा के 11 किलोमीटर अंदर गए और जकरिया मुस्तकिर नाम की जगह पर एक रात गुजारी थी , निश्चित रूप से मुशर्रफ़ करगिल में धावा बोलने की तैयारी कई माह से कर रहे थे . अब चूँकि उन्होंने सच कबूल कर लिया है अतः भारत को चाहिए कि अंतर्राष्ट्रीय फोरम में इस मुद्दे को उछाल कर पाकिस्तान को आतंकवादी राष्ट्र घोषित कराये .

Read more...

होली की हार्दिक बधाई

होली के पावन पर्व पर 
आप सभी मित्रों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएँ ! 



Read more...

मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह के प्रयासों से अकाल मुक्त हुआ छत्तीसगढ़

>> 19 मार्च, 2013

 
मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में राज्य सरकार के प्रयासों से छत्तीसगढ़ अकाल मुक्त और पलायन मुक्त होकर विगत लगभग दस वर्षो से लगातार विकास की राह पर आगे बढ़ रहा है। छत्तीसगढ़ राज्य भंडारगृह निगम अध्यक्ष श्री अशोक बजाज ने आज यह बात कही। श्री बजाज ने रायपुर जिले के अभनपुर में आज निगम के एक करोड़ 60 लाख रु. की लागत से निर्मित 5400 मीटरिक टन क्षमता के तीन नए गोदामों का लोकार्पण्ा और एक करोड़ 80 लाख रु. की लागत से बनने वाले इतनी ही भण्डारण क्षमता क तीन नये गोदामों का भूमिपूजन किया।

इस अवसर पर निगम द्वारा अनाज भण्डारण की वैज्ञानिक तकनीक पर किसानों के लिए संगोष्ठी का भी आयोजन किया गया, जिसमें क्षेत्र के तीन हजार से अधिक किसान शामिल हुए। केन्द्रीय भण्डारण निगम के क्षेत्रीय प्रबंधक आर. के. सिंह ने प्रोजेक्टर के माध्यम से अनाज भण्डारण के वैज्ञानिक तरीकों की जानकारी दी। उपस्थित किसान प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए निगम अध्यक्ष अशोक बजाज ने कहा कि अन्न की सुरक्षा हेतु राज्य सरकार अत्यंत गंभीर है , इसी का परिणाम है कि मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह के निर्देश पर पिछले दो-तीन वर्षों में प्रदेश में अनाज भण्डारण क्षमता में दोगुनी वृध्दि की गई है . श्री बजाज ने कहा कि इस वर्ष प्रदेश सरकार ने करीब नौ हजार करोड़ रूपए मूल्य के लगभग 71 लाख मीटरिक टन धान की  खरीदी समितियों के माध्यम से की है जो कि एक नया कीर्तिमान है . उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह के प्रयासों से प्रदेश अकाल मुक्त हुआ है . इस अवसर पर मार्कफेड के अध्यक्ष राधाकृष्ण गुप्ता और ब्लॉग लेखक श्री ललित शर्मा सहित सर्वश्री बलराम तिवारी , सुनील मिश्रा, व्यासनारायण साहू , अशोक गाँधी, युधिष्ठिर चंद्राकर , प्राथमिक सहकारी समिति के अध्यक्ष राघवेन्द्र साहू, तथा किसान प्रतिनिधि सर्वश्री विकास चंद्राकर , प्रदीप शर्मा, छन्नू साहू , सोमेश पण्डे,मदन साहू, मधुसूदन धृतलहरे, सूरज साहू, निगम प्रबंधक रितेश अग्रवाल भी उपस्थित थे। DPR RAIPUR

Read more...

देश को एक्ट नहीं एक्शन की जरुरत - नरेन्द्र मोदी

दिनांक 16.03.2013 को आज तक हिंदी चैनल में गुजरात के मुख्यमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी दिया हुआ धारावाहिक भाषण ...........


Read more...

विश्व के बारह ज्योतिर्लिंग

>> 12 मार्च, 2013


हिन्दू धर्म में भगवान शिव का पूजन लिंगम के रूप में किया जाता है. दुनियाभर में स्थापित असंख्य शिवलिंगों में शिव के 12 ज्योतिर्लिंग सर्वप्रधान हैं . ऐसा स्थान जहाँ स्वयं भगवान शिवजी प्रगट हुए थे उसे ज्योतिर्लिंग माना जाता है . शास्त्रों के अनुसार इन ज्योतिर्लिंगों के दर्शन अत्यंत फलदायी है . ये ज्योतिर्लिंग सोमनाथ, मल्लिकार्जुन, महाकालेश्वर, ओंकारेश्वर, केदारनाथ, भीमशंकर, काशी विश्वनाथ, त्रयंबकेश्वर, वैद्यनाथ, नागेश्वर, रामेश्वर और घृष्णेश्वर है.  इन 12 ज्योतिर्लिंगों के विषय में पुराण में कहा गया है  -- 

सौराष्ट्रे सोमनाथं च श्रीशैले मल्लिकार्जुनम्। उज्जयिन्यां महाकालमोङ्कारममलेश्वरम् ॥
परल्यां वैद्यनाथं च डाकिन्यां भीमशङ्करम्।:सेतुबन्धे तु रामेशं नागेशं दारुकावने ॥
वाराणस्यां तु विश्वेशं त्र्यम्बकं गौतमीतटे।:हिमालये तु केदारं घृष्णेशं च शिवालये ॥
एतानि ज्योतिर्लिङ्गानि सायं प्रात: पठेन्नर:।:सप्तजन्मकृतं पापं स्मरणेन विनश्यति ॥

विश्व के बारह ज्योतिर्लिंग एवं उनकी स्थिति  

भारत के नक्शें में बारह ज्योतिर्लिंग 
चित्र साभार गूगल

Read more...

राज्य के दस लाख से ज्यादा किसानों को मिलेगा बोनस

>> 27 फ़रवरी, 2013

 
मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह से आज दोपहर यहां विधानसभा परिसर स्थित उनके कार्यालय कक्ष में प्रदेश के सहकारिता क्षेत्र की संस्थाओं के पदाधिकारियों ने सौजन्य मुलाकात की। उन्होंने मुख्यमंत्री को इस खरीफ विपणन वर्ष 2012-13 में राज्य की एक हजार 333 सहकारी समितियों के दस लाख से अधिक सदस्य किसानों को धान पर 270 रूपए प्रति क्विंटल की दर से बोनस देने और इसके लिए आगामी वित्तीय वर्ष 2013-14 के बजट में एक हजार 750 कराड़ रूपए का प्रावधान किए जाने की घोषणा पर उन्हें धन्यवाद दिया और इसके लिए उनका अभिनंदन किया। प्रतिनिधि मण्डल ने कहा कि मुख्यमंत्री की इस घोषणा से प्रदेश के किसानों को एक हजार 923 करोड़ रूपए का बोनस मिलेगा, जो किसानों के लिए एक ऐतिहासिक उपलब्धि होगी। प्रतिनिधि मण्डल में छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी बैंक (अपेक्स बैंक) के अध्यक्ष श्री महावीर सिंह राठौर, राज्य सहकारी विपणन संघ (मार्कफेड) के अध्यक्ष श्री राधाकृष्ण् गुप्ता, अपेक्स बैंक संचालक मण्डल के सदस्य और राज्य भण्डार गृह निगम के अध्यक्ष श्री अशोक बजाज, राज्य सहकारी भूमि विकास बैंक के अध्यक्ष श्री देवेन्द्र पाण्डेय, अपेक्स बैंक के संचालक श्री मिथिलेश दुबे तथा श्री रमाकांत दुबे सहित अन्य अनेक प्रतिनिधि शामिल थे।मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर उपस्थित विधायक डॉ. शक्राजीत नायक को इस बात के लिए बधाई दी कि उन्हें धान पर बोनस के रूप में तीन लाख 27 हजार रूपए की धनराशि मिलने जा रही है। डॉ. नायक ने इसके लिए मुख्यमंत्री को धन्यवाद दिया। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री ने इस महीने की 23 तारीख को यहां विधानसभा में राज्य सरकार के आगामी वित्तीय वर्ष 2013-14 के बजट में किसानों को धान पर 270 रूपए प्रति क्विंटल की दर से खरीफ विपणन वर्ष 2012-13 का बोनस देने की घोषणा की है। प्रतिनिधि मण्डल ने मुख्यमंत्री को बिलासपुर में आयोजित होने वाले सहकारिता सम्मेलन में मुख्य अतिथि के रूप में आमंत्रित किया। उन्होंने मुख्यमंत्री को बताया कि बिलासपुर संभाग के सभी जिलों की सहकारी समितियों के सदस्य किसान इस सम्मेलन में डॉ. रमन सिंह का अभिनन्दन करना चाहते हैं।DPR

Read more...

गणतंत्र दिवस 2013 के कार्यक्रमों की झलकियाँ

>> 26 जनवरी, 2013


प्रस्तुत है गणतंत्र दिवस 2013 के कार्यक्रमों की झलकियाँ -  


गणतंत्र दिवस 2013 : चौपाल में ध्वजारोहण.

गणतंत्र दिवस 2013 : राज्य भंडारगृह निगम के प्रांतीय मुख्यालय में ध्वजारोहण.
गणतंत्र दिवस 2013 : राज्य भंडारगृह निगम के प्रांतीय मुख्यालय में ध्वजारोहण.

गणतंत्र दिवस 2013 : सरस्वती शिशु मंदिर अभनपुर में बालमित्र पत्रिका का विमोचन.

गणतंत्र दिवस 2013 : सरस्वती शिशु मंदिर अभनपुर में ध्वजारोहण.

गणतंत्र दिवस 2013 :शा.कन्या उच्चतर माध्यमिक शाला अभनपुर.

गणतंत्र दिवस 2013 :शा. बजरंग दास उच्चतर माध्यमिक शाला अभनपुर में ध्वजारोहण.

गणतंत्र दिवस 2013 : श्री बजरंग दास शा. उच्चतर माध्यमिक शाला अभनपुर में गणतंत्र दिवस समारोह.
गणतंत्र दिवस 2013 : अभनपुर के मुख्य संयुक्त समारोह में ध्वजारोहण.
गणतंत्र दिवस 2013 : नगर पंचायत अभनपुर के तत्वाधान में मुख्य समारोह में परेड की सलामी.
गणतंत्र दिवस 2013 : नगर पंचायत अभनपुर द्वारा आयोजित नगर स्तरीय गणतंत्र दिवस समारोह में स्कूली बच्चों की रंगारंग प्रस्तुति.
गणतंत्र दिवस 2013 : नगर पंचायत अभनपुर द्वारा आयोजित नगर स्तरीय गणतंत्र दिवस समारोह .


                गणतंत्र दिवस की आप सबको हार्दिक शुभकामनाएं !

Read more...

स्वामी विवेकानंद के दस घोष वाक्य

>> 12 जनवरी, 2013

स्वामी विवेकानंद जी की 150वी जयन्ती पर उन्हें नमन करते हुए, प्रस्तुत है उनके दस घोष वाक्य.

                                              

1   उठो, जागो और तब तक रुको नहीं जब तक मंजिल प्राप्त न हो जाये.

2   तूफान मचा दो तमाम संसार हिल उठता; क्या करूँ धीरे-धीरे अग्रसर होना पड़ रहा है. तूफ़ान मचा दो तूफ़ान !

3   जब तक जीना, तब तक सीखना' -- अनुभव ही जगत में सर्वश्रेष्ठ शिक्षक है.

4   पवित्रता, दृढ़ता तथा उद्यम- ये तीनों गुण मैं एक साथ चाहता हूँ.

5   ज्ञान स्वयं में वर्तमान है, मनुष्य केवल उसका आविष्कार करता है.
 

6   जब कोई विचार अनन्य रूप से मस्तिष्क पर अधिकार कर लेता है तब वह वास्तविक भौतिक या मानसिक अवस्था में परिवर्तित हो जाता है.

7   आध्यात्मिक दृष्टि से विकसित हो चुकने पर धर्मसंघ में बने रहना अवांछनीय है; उससे बाहर निकलकर स्वाधीनता की मुक्त वायु में जीवन व्यतीत करो.
 

8   हमारी नैतिक प्रकृति जितनी उन्नत होती है, उतना ही उच्च हमारा प्रत्यक्ष अनुभव होता है, और उतनी ही हमारी इच्छा शक्ति अधिक बलवती होती है.

9   लोग तुम्हारी स्तुति करें या निन्दा, लक्ष्मी तुम्हारे ऊपर कृपालु हो या न हो, तुम्हारा देहान्त आज हो या एक युग मे, तुम न्यायपथ से कभी भ्रष्ट न हो.
 

10  तुम अपनी अंत:स्थ आत्मा को छोड़ किसी और के सामने सिर मत झुकाओ; जब तक तुम यह अनुभव नहीं करते कि तुम स्वयं देवों के देव हो, तब तक तुम मुक्त नहीं हो सकते.
                                                                                                                       

Read more...

About This Blog

  © Blogger template Webnolia by Ourblogtemplates.com 2009

Back to TOP