Blogger द्वारा संचालित.
ग्राम चौपाल में आपका स्वागत है * * * * नशा हे ख़राब झन पीहू शराब * * * * जल है तो कल है * * * * स्वच्छता, समानता, सदभाव, स्वालंबन एवं समृद्धि की ओर बढ़ता समाज * * * * ग्राम चौपाल में आपका स्वागत है

आतंक का पर्याय है पाकिस्तान

>> 27 मार्च, 2013




पाकिस्तान अब तक दुनिया के सामने यही कहता आया है कि मई 1999 के करगिल युद्ध में पाक सेना शामिल नहीं है, भारत के खिलाफ यह युद्ध मुजाहिद्दीन लड़ रहे है . भारत की शांति और तरक्की के दुश्मन परवेज मुशर्रफ ने आज आखिरकार सच उगल ही दिया कि 1999 में पाकिस्तानी सैनिक नियंत्रण रेखा पार कर भारतीय सीमा में घुस गये थे. हालांकि यह बात पहले ही प्रमाणित हो चुकी है कि पाक सेना ने करगिल में अनधिकृत रूप से प्रवेश किया था , स्वयं पाकिस्तान के सेवानिवृत्त कर्नल अशफाक हुसैन ने अपनी किताब ‘विटनेस टू ब्लंडर’ में ये खुलासा किया है कि 28 मार्च 1999 को जनरल परवेज मुशर्रफ हेलीकॉप्टर पर सवार होकर भारतीय सीमा के 11 किलोमीटर अंदर गए और जकरिया मुस्तकिर नाम की जगह पर एक रात गुजारी थी , निश्चित रूप से मुशर्रफ़ करगिल में धावा बोलने की तैयारी कई माह से कर रहे थे . अब चूँकि उन्होंने सच कबूल कर लिया है अतः भारत को चाहिए कि अंतर्राष्ट्रीय फोरम में इस मुद्दे को उछाल कर पाकिस्तान को आतंकवादी राष्ट्र घोषित कराये .

3 टिप्पणियाँ:

Ramakant Singh 28 मार्च 2013 को 1:44 pm  

अतः भारत को चाहिए कि अंतर्राष्ट्रीय फोरम में इस मुद्दे को उछाल कर पाकिस्तान को आतंकवादी राष्ट्र घोषित कराये .
ताकि पकिस्तान अपनी विश्वसनीयता को विश्व पटल पर स्पष्ट कर पाए और भारत को किसी भी कार्यवाही में कोई दिक्कत न आये

Ashok Bajaj 29 मार्च 2013 को 12:17 am  

@ramakant singh ji - अंतिम पंक्ति को पूर्ण करने के लिए आभार.

प्रवीण पाण्डेय 29 मार्च 2013 को 9:28 pm  

पाकिस्तान का सच कहाँ किससे छिपा है, बस उसे स्वीकार करने की दृढ़ता हो हममें।

एक टिप्पणी भेजें

About This Blog

  © Blogger template Webnolia by Ourblogtemplates.com 2009

Back to TOP